बौद्ध धर्म के खिलाफ किये गये षड़यंत्र🌷 संकलन एवं प्रस्तुति- मास्टर बादल बौद्ध


बौद्ध धर्म के खिलाफ किये गये षड़यंत्र🌷 संकलन एवं प्रस्तुति- मास्टर बादल बौद्ध

👉 एक बौद्ध भिक्खु का सिर काटकर लाने पर 100 स्वर्ण मुद्राओं का पुरस्कार घोषित किया.

👉 बौद्ध विहारों को नष्ट करके मंदिरों में बदला.

👉 अयोध्या का नाम साकेत था. मौर्य काल में साकेत, बौद्धौ का बड़ा केन्द्र था, इसे भी मंदिर में बदला गया.

👉 बुद्ध ने अपने जीवन में राजा प्रसेनजित को समझा-बुझाकर यज्ञ में पशु-बलि पर रोक लगाई  थी, इस कारण उस क्षेत्र को अवध (अ= नहीं, अर्थात वध-रहित) नाम दिया गया था.

👉 पशु रक्षक होने के नाते बुद्ध को लोग पशुपति भी कहते थे. चन्द्रगुप्त मौर्य के शासनकाल में 16 गण थे, और चंद्रगुप्त मौर्य सबके प्रधान होने के कारण गणपति मौर्य कहलाते थे.

👉 185 ई पू पुष्यमित्र शुंग ने नया इतिहास लिखवाया. जैसे रामायण, महभारत, मनुस्मृति. इसमें पशुपति को शंकर भगवान कहा गया तथा गणपति मौर्य के स्थान पर गणेश कहा गया.

👉 भिक्षु सिर घुटाकर रहते थे. शुंग ने सिर घुटाना मृतक-संस्कार से जोड़ दिया.

👉 बुद्ध के नाम को गाली के रूप में ‘बुद्धू’ कहकर प्रचारित किया.

👉 महिलायें सफेद वस्त्र में बुद्ध देसना सुनती थी. उनकी वेशभूषा को विधवा की वेशभूषा बना दिया गया.

👉 गया में पीपल वृक्ष के नीचे बुद्ध को ज्ञान मिला था. उस पीपल वृक्ष पर ब्रह्मराक्षस नामक महाभूत का आवास बताया गया.

👉 जिन-जिन स्थानों पर तथागत बुद्ध ने पैदल घूम-घूमकर उपदेश दिये वहाँ बुद्ध विहार बने. उस प्रदेश को व के स्थान पर ब बोलकर बिहार कहा.

👉 बौद्ध धर्म के त्रिशरण से त्रिशूल की कल्पना कर शिव का अस्त्र बना दिया तथा पंचशील शब्द से पाँच लेकर ‘तीन पाँच न करो’ एक गाली बना दी गयी.

👉 बुद्ध ने आष्टांगिक मार्ग को जीवन जीने की कला के रूप में बताया, जिसका सांकेतिक चिन्ह स्वास्तिक चिन्ह था, जिसे शुंग ने ब्राह्मणी-चिन्ह बनाया दिया.
– मास्टर बादल बौद्ध

One thought on “बौद्ध धर्म के खिलाफ किये गये षड़यंत्र🌷 संकलन एवं प्रस्तुति- मास्टर बादल बौद्ध

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s