मीडिया दलितों पर जुल्म की खबरें दिखाता है विरोध की खबरें नहीं, ऐसा क्यों, बड़ा खुलासा…National Dastak


अहमदाबाद में रविवार 31 जुलाई को दलित, आदिवासी, पिछड़े और अल्पसंख्यकों की भागीदारी वाली एक महा सम्मेलन हुआ। दलितों पर हुए अत्याचार के खिलाफ दलित-मुस्लिम के साथ सड़क पर उतरे। हजारों लोग इस रैली में शामिल थे। लेकिन मीडिया ने इस खबर को नहीं दिखाया। ऐसे में जानकारों की माने तो मीडिया में अंदर तक जातिवाद है और वह जानबूझकर दलितों पर अत्याचार की खबरें तो दिखाता है लेकिन दलितों के विरोध की खबर दबा देता है। मीडिया जानकरों की माने तो इसके पीछे तर्क है कि मार-पिटाई और अत्याचार की खबरें आने से बहुजन समाज में भय बना रहता है। वह एकजुट या फिर लड़ने की हिम्मत नहीं जुटा पाते। वहीं मीडिया खुद को दलित हितैषी का तमगा भी खुद ही पहन लेता है। जबकि उसकी सोच है कि अगर विरोध प्रदर्शन, अत्याचार के खिलाफ रैली को दिखाएंगे तो दलित समाज, पिछड़ा समाज, आदिवासी समाज और अल्पसंख्यक लोग जागरूक हो जाएंगे। इसी रणनीति के तहत इन लोगों पर हुए जुल्म की खबरें दो दिखाई जाती है। लेकिन एकजुटता और विरोध की खबरें दबा दी जाती है। लेकिन फेसबुक समेत तमाम सोशल साइट्स पर लोग अब खुलकर इस बात को लिखने लगे हैं।

दलित उत्पीड़न, हत्या, बलात्कार की खबरें मजे लेकर छापने, दिखाने वाले चैनलों और अखबारों को विरोध और प्रतिरोध की खबरें पसंद नहीं हैं.

अहमदाबाद, 31 जुलाई, दलित महासम्मेलन

Untitled

http://www.nationaldastak.com/story/view/people-anger-on-media-for-dalit-protest-showing-null

3 thoughts on “मीडिया दलितों पर जुल्म की खबरें दिखाता है विरोध की खबरें नहीं, ऐसा क्यों, बड़ा खुलासा…National Dastak

  1. Thanks Regards-Babu Lal RaoSub-Divisional Engineer (Retd), Bharat Sanchar Nigam Ltd.Vill-Jamunipur, PS-Ataria, Distt-Sitapur, UPMob : 9415335868

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s