जेएनयू में रोहित वेमुला कांड दोहराने की कोशिश कर रहा प्रशासन- निष्कासित छात्र|कन्हैया मामले पर आसमान सिर पर उठा लेने वाले चैनल बहुजन छात्रों के निष्कासन मामले पर खामोश क्यों? …National Dastak


जेएनयू पर लगातार यह आरोप लगते रहे हैं कि इस संस्थान में भी दलित-पिछड़े और आदिवासी तथा मुस्लिम छात्रों के साथ भेदभाव होता रहा है। जिसे लेकर समय-समय पर यहाँ के छात्र आन्दोलन भी करते रहे हैं।

Read full news from from following links

http://www.nationaldastak.com/story/view/jnu-vc-suspended-bpsa-president-rahul-and-others

http://www.nationaldastak.com/story/view/jnu-bahujan-students-pc

http://www.nationaldastak.com/story/view/where-is-the-main-stream-media-

http://www.nationaldastak.com/story/view/om-sudha-asked-some-questions-to-left-behalf-of-jnu

 

आपको इंटरेस्ट नहीं इन बातों में कोई नहीं कल को आपके भी बच्चे कॉलेज जाएंगे तब उनको भी ऐसे ही भेदभाव का सामना करना होगा, तब बाकि लोभ भी इंटरेस्ट नहीं लेंगे| अगर ऐसे मुद्दों पर सरे भारतवासी एकजुट नहीं होते तो वो दिन दूर नहीं पर पढ़ने पढने का अधिकार खतरे में होगा| अपने बच्चे का एडमिशन तो कराया होगा स्कूल में, एडमिशन फॉर्म में तीसरा कॉलम में जाती पूछते हैं हर स्कूल में, खासकर प्राइवेट स्कूल में, जानते हैं क्यों? पहले तो नहीं पूछते थे अभी क्यों पूछने लगे हैं| जागो देखो ब्राह्मणवाद तेज़ी से फ़ैल रहा है आपके आस पास| क्या आप में से कोई बताएगा की स्कूक कालेज के फॉर्म में जाती धर्म  पूछने का क्या मतलब है क्या जरूरत है ?

 

ADV:

BAAPSA : Birsa Ambedkar Phule Students’ Association

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s