संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहेब डाॅ भीम राव अम्बेडकर के 127 वी जयन्ती पर आप सभी को हार्दिक शुभामनाऐ।क्या आपको पता है बाबासाहब डॉ.अंबेडकर जी ने अपने डाॅक्टर ऑफ सायंस के लिए ‘ दि प्राॅब्लेम ऑफ रूपी’ पर शोध किया जिसके आधार पर भारत में “रिजर्व बैंक” की स्थापना हुईं।

संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहेब डाॅ भीम राव अम्बेडकर के 127 वी जयन्ती पर आप सभी को हार्दिक शुभामनाऐ।

 

क्या आपको पता है बाबासाहब डॉ.अंबेडकर जी ने अपने डाॅक्टर ऑफ सायंस के लिए ‘ दि प्राॅब्लेम ऑफ रूपी’ पर शोध किया जिसके आधार पर  भारत में “रिजर्व बैंक” की स्थापना हुईं।

डॉ भीमराव अंबेडकर
ग्रन्थ:- समता स्वतंत्रता एवं बन्धुता पर आधारित भारतीय संविधान
योग्यता:- निम्नलिखित।
*वे निम्नलिखित 9 भाषाओं के ज्ञाता थे।*
1) मराठी (मातृभाषा)
2) हिन्दी
3) संस्कृत
4) गुजराती
5) अंग्रेज़ी
6) पारसी
7) जर्मन
8) फ्रेंच
9) पाली
*बाबा साहेब अंबेडकर ने संसद में निम्नलिखित 9 विधेयक पेश किये थे।*
1) महार वेतन बिल
2) हिन्दू कोड बिल
3) जनप्रतिनिधि बिल
4) खोती बिल
5) मंत्रीओं का वेतन बिल
6) मजदूरों के लिए वेतन (सैलरी) बिल
7) रोजगार विनिमय सेवा
8) पेंशन बिल
9) भविष्य निर्वाह निधी (पी.एफ्.)
*बाबासाहब ने निम्नलिखित 9 सत्याग्रह (आंदोलन)किये थे।*
1) महाड आंदोलन 20/3/1927
2) मोहाली (धुले) आंदोलन 12/2/1939
3) अंबादेवी मंदिर आंदोलन 26/7/1927
4) पुणे कौन्सिल आंदोलन 4/6/1946
5) पर्वती आंदोलन 22/9/1929
6) नागपूर आंदोलन 3/9/1946
7) कालाराम मंदिर आंदोलन 2/3/1930
8) लखनौ आंदोलन 2/3/1947
9) मुखेड का आंदोलन 23/9/1931
*बाबासाहब अंबेडकर ने निम्नलिखित संगठनों अथवा संस्थाओं की स्थापना की थी।*
1) बहिष्कृत हितकारिणी सभा – 20 जुलाई 1924
2) समता सैनिक दल – 24 सितम्बर 1924
3) स्वतंत्र मजदूर पार्टी – 16 अगस्त 1936
4) शेड्युल्ड कास्ट फेडरेशन- 19 जुलाई 1942
5) रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया- 3 अक्तूबर 1957
6) भारतीय बौद्ध महासभा –
4 मई 1955
7) डिप्रेस क्लास एज्युकेशन सोसायटी- 14 जून 1928
8) पीपल्स एज्युकेशन सोसायटी- 8 जुलाई 1945
9) सिद्धार्थ काॅलेज, मुंबई- 20 जून 1946
10) मिलींद काॅलेज, औरंगाबाद- 1 जून 1950
*बाबा साहेब ने निम्नलिखित पत्र पत्रिकाएं प्रकाशित की थी।*
1) मूकनायक- 31 जनवरी 1920
2) बहिष्कृत भारत- 3 अप्रैल 1927
3) समता- 29 जून 1928
4) जनता- 24 नवंबर 1930
5) प्रबुद्ध भारत- 4 फरवरी 1956
*बाबासाहब अंबेडकर जी ने अपने जिवन में विभिन्न विषयों पर 527 से ज्यादा भाषण दिए थे।*
*बाबासाहब अंबेडकर ने निम्नलिखित सम्मान प्राप्त किये थे।*
1) भारतरत्न
2) The Greatest Man in the World (Columbia University)
3) The Universe Maker (Oxford University)
4) The Greatest Indian (CNN IBN & History Tv
*बाबासाहब अंबेडकर के पास निम्नलिखित अपनी निजी पुस्तकें थी।*
1) अंग्रेजी साहित्य- 1300 किताबें
2) राजनिती- 3,000 किताबें
3) युद्धशास्त्र- 300 किताबें
4) अर्थशास्त्र- 1100 किताबें
5) इतिहास- 2,600 किताबें
6) धर्म- 2000 किताबें
7) कानून- 5,000
किताबें
8) संस्कृत- 200 किताबें
9) मराठी- 800 किताबें
10) हिन्दी- 500 किताबें
11) तत्वज्ञान (फिलाॅसाफी)- 600 किताबें
12) रिपोर्ट- 1,000
13) संदर्भ साहित्य (रेफरेंस बुक्स)- 400 किताबें
14) पत्र और भाषण- 600
15) जिवनीयाँ (बायोग्राफी)- 1200
16) एनसाक्लोपिडिया ऑफ ब्रिटेनिका- 1 से 29 खंड
17) एनसाक्लोपिडिया ऑफ सोशल सायंस- 1 से 15 खंड
18) कैथाॅलिक एनसाक्लोपिडिया- 1 से 12 खंड
19) एनसाक्लोपिडिया ऑफ एज्युकेशन
20) हिस्टोरियन्स् हिस्ट्री ऑफ दि वर्ल्ड- 1 से 25 खंड
21) दिल्ली में रखी गई किताबें-
बुद्ध धम्म,
पालि साहित्य,
मराठी साहित्य- 2000 किताबें
22) बाकी विषयों की 2305 किताबें
*बाबासाहब अंबेडकर की उपाधि।*
1) महान समाजशास्त्री
2) महान अर्थशास्त्री
3) संविधान शिल्पी
4) आधुनिक भारत के मसिहा
5) इतिहास के ज्ञाता और रचियाता
6) मानवंशशास्त्र के ज्ञाता
7) तत्वज्ञानी (फिलाॅसाॅफर)
8) दलितों के और महिला अधिकारों के मसिहा
9) कानून के ज्ञाता (कानून के विशेषज्ञ)
10) मानवाधिकार के संरक्षक
11) महान लेखक
12) पत्रकार
13) संशोधक
14) पाली साहित्य के महान अभ्यासक (अध्ययनकर्ता)
15) बौध्द साहित्य के अध्ययनकर्ता
16) भारत के पहले कानून मंत्री
17) मजदूरों के मसिहा
18) महान राजनितीज्ञ
19) विज्ञानवादी सोच के समर्थक
20) संस्कृत और हिन्दू साहित्य के गहन अध्ययनकर्ता थे।
*बाबासाहब अंबेडकर की कुछ अन्य विशेषताएँ*
1) पानी के लिए आंदोलन करनेवाले विश्व के पहले महापुरुष।
2) लंदन विश्वविद्यालय के पुरे लाईब्ररी के किताबों की छानबीन कर उसकी
जानकारी रखनेवाले एकमात्र महामानव
3) लंदन विश्वविद्यालय के 200 छात्रों में नंबर 1 का छात्र होने का सम्मान प्राप्त होनेवाले पहले भारतीय
4) विश्व के छह विद्वानों में से एक
6) लंदन विश्वविद्यालय मे डी.एस्.सी.
यह उपाधी पानेवाले पहले और आखिरी भारतीय
7) लंदन विश्वविद्यालय का 8 साल का पाठ्यक्रम 3 सालों मे पूरा
करनेवाले महामानव
🔹