केरल हाई कोर्ट के जज जस्टिस वी चिताम्बरेश ने ब्राह्मणों के श्रेष्ठ होने दो बार जन्म लेने और जातिगत आरक्षण की खिलाफत वाले भाषण पर पर दिलीप सी मंडल के फेसबुक पोस्ट, (ये खबर विदेशी अख़बारों में भी छपी है )


मी लॉर्ड. आप भयंकर जातिवादी हैं. आप मेंअपनी जाति का श्रेष्ठता का झूठा बोध कूट-कूट कर भरा है. पता नहीं, आपके फैसलों में वह जातिवाद कितना झलकता होगा. आपकी निंदा होनी चाहिए. आपको बताया जाना चाहिए कि आप संविधान की मूल भावना को समझने में असफल रहे हैं.

हार्वर्ड से कानून पढ़ने वाले अनुराग भाष्कर का लेख.

Casteist judges? Justice V. Chitambaresh wasn’t the first, he won’t be the last

 

Dilip C Mandal

केरल हाई कोर्ट के ब्राह्मण जज चिदंबरीश की सार्वजनिक जातिवादी टिप्पणियों और अपनी जाति के लोगों को आरक्षण के खिलाफ आंदोलन छेड़ने का आह्वान करने के बाद एक बार फिर से ये बहस तेज हो गई है कि हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में विभिन्न जाति-समुदायों के जज होने चाहिए. भारतीय न्यायपालिका में लोगों का भरोसा बनाए रखने के लिए ये जरूरी हो गया है.

https://hindi.theprint.in/opinion/why-should-be-reservation-in-the-judiciary-be/39292/?fbclid=IwAR3podaaucf3l_RWL4vaIeO5jQeQ4mhI3SExnf6iu9Y8dzf5ErkCUNZAgZk

 

Dilip C Mandal

हाई कोर्ट का एक सिटिंग जज कहता है कि ब्राह्मण श्रेष्ठ होता है. वह पूर्व जन्मों के कर्मों की वजह से द्विज है. उसमें जन्म से ही सतगुण होते हैं, वह राज करने के लिए पैदा हुआ है लेकिन दूसरे ही पल वह कहता है कि आरक्षण आर्थिक आधार पर होना चाहिए और इसके लिए ब्राह्मणों को आंदोलन करना चाहिए.

उस जज के सामने जब एक ब्राह्मण अभियुक्त का केस आता होगा, जिसके खिलाफ हत्या, बलात्कार, या डकैती के सबूत अभियोजन पक्ष ने प्रस्तुत किए होंगे, तो वह जज फैसला कैसे करता होगा?

अच्छा तो ये होता कि जस्टिस चिदंबरीश इस्तीफा देकर सीधे ब्राह्मण महासभा की कमान संभाल लें. अगर वे ऐसा नहीं करते, तो उनके खिलाफ महाभियोग चलाया जाना चाहिए. कानून के सभी जानकार कह रहे हैं कि जस्टिस चिदंबरीश को संविधान की समझ नहीं है.

आपकी राय?

Dilip C Mandal

दो-दो बार जन्म लेने और पैदा होने के साथ ही सबसे श्रेष्ठ होने का दावा करने वाले जज के चर्चे अब सारी दुनिया में हैं। दुनिया हंस रही है। ब्रिटेन के सबसे बड़े अख़बार में उनके कारनामे की ख़बर छपी है। पढ़िए और पढ़ाइए। Tejas Harad

https://www.independent.co.uk/news/world/asia/india-judge-brahmin-caste-system-kerala-court-speech-a9018831.html?fbclid=IwAR1nv9onppJMjpxfrFOVnzU84hS6kwD6vJxN8y4Nnvncytom3Iw4A8XGZzE

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s