बोधिसत्व गुरु रविदास मंदिर तुगलकाबाद दिल्ली मामला 23 अगस्त 2019:- मंदिर पुनस्तापना के धरना प्रदर्शन के बाद भीम आर्मी प्रमुख मान्यवर चंद्रशेखर आज़ाद समेद 98 लोगों को गिरफ्तार किया गया, मायावती ने खुद को इस मामले से अलग बताया , दिल्ली में आम आदमी की सरकार ने समर्थन के बात की … TOI, The Wire

 

 

https://www.news18.com/news/india/day-after-violent-protest-in-delhi-mayawati-distances-herself-from-ravidas-temple-agitation-2279877.html

 

 

 

बोधिसत्व गुरु रविदास मंदिर तुगलकाबाद दिल्ली मामला 22 अगस्त 2019 को लाखों बहुजनों ने भीम आर्मी के मान्यवर चंद्रशेखर की अगुवाई में धरना प्रदर्शन निकला,आइये सुनते हैं क्या बोलना चाहते हैं बहुजन लोग … source: TOI,BBC,youtube

मंदिर के पुनर निर्माण की मांग की गयी

 

दिल्ली के तुगलकाबाद में 510 वर्ष पुराना गुरु रविदास जी का मंदिर तोड़ दिया गया है सरे देश में जबरदस्त प्रदर्शन है खासकर हरयाणा पंजाब और दिल्ली में । विदित हो की 1 मार्च 1509 दिल्ली के तत्कालीन सुल्तान सिंकदर लोधी ने ये जमीन का एक टुकड़ा रविदास को दान किया था…Source Times of INDIA

जानें रविदास मंदिर का इतिहास 

1 मार्च 1509 
दिल्ली के तत्कालीन सुल्तान सिंकदर लोधी ने जमीन का एक टुकड़ा रविदास को दान किया।

1509 
रविदास के समर्थकों द्वारा जमीन पर एक तालाब और एक आश्रम बनाया गया।

1949-1954
रविदास के समर्थकों ने गुरु रविदास जयंती समारोह समिति के अंतर्गत वहां एक मंदिर का निर्माण किया।

1959 
तत्कालीन रेलवे मंत्री बाबू जगजीवन राम ने इस मंदिर का उद्घाटन किया।

9 अगस्त 2019 
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि गुरु रविदास जयंती समारोह समिति ने शीर्ष अदालत के आदेश के बावजूद जंगली इलाके को खाली नहीं करके गंभीर उल्लंघन किया है। गुरु रविदास जयंती समारोह समिति बनाम यूनियन ऑफ इंडिया के बीच सुप्रीम कोर्ट में केस में सर्वोच्च अदालत ने डीडीए से 10 अगस्त तक वहां से निर्माण को हटाने का आदेश दिया था।

10 अगस्त 2019
डीडीए ने निर्माण को हटाया।

12 अगस्त 2019
आप के सीनियर लीडर और दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि देश में करोड़ों लोग संत रविदास पर आस्था रखते हैं और लोगों की आस्था का ध्यान रखते हुए यहां मंदिर को पुन: स्थापित कराया जाना चाहिए।